Pages

Tuesday, 12 August 2014

कोई तुमसा मिला होता तो ये बात सच भी हो सकती थी

कोई तुमसा मिला होता तो ये बात सच भी हो सकती थी
तेरी सादगी के सिवाय मेरी जान और कोई ले नहीं सकता
मुकेश इलाहाबादी -----------------------------------------