Pages

Saturday, 19 November 2016

मोबाइल

मेरे ,
दिल के मोबाइल में
फीड हो तुम
सब से
प्रिय नंबर की तरह
जिस नंबर के लिए
मैंने सबसे जुदा
और सबसे मीठी
कान्हा की बांसुरी की
रिंग टोन लगा रखी है

रह - रह के देख लेता हूँ
दिले मोबाइल को
की कहीं
तुम्हारी कॉल
या मेसेज तो नहीं आया है
और हर बार
मायूस हो के रख देता हूँ फिर से
मोबाइल को

वैसे,
भी तुम
मेरे दिल के एंड्रॉइड फ़ोन का वो प्रोगग्राम हो
और नेट सर्विस हो
जिसके बिना मेरा ये दिले फ़ोन
सिर्फ एक खिलौना है
जिससे ज़माना खेलता है जी भर के
और तोड़ता फोड़ता रहता है,
किसी शैतान बच्चे सा,

मेरी प्यारी सुमी,
तुम्हारी सिर्फ और सिर्फ एक मिस कॉल या मैसेज के मैसेज के इंतज़ार में

मुकेश इलाहाबादी --------------------------