Pages

Thursday, 29 June 2017

यक्ष प्रश्न

तुम
मुझे क्यूँ अच्छी लगती हो ?
ये एक यक्ष प्रश्न है
जिसका उत्तर मेरे पास नहीं है

अगर
रूप मानू तो
तुमसे बेहतर भी होंगे ज़माने में
(ये - मैंने नहीं तुमने ही कहा था )

साहचर्य
मानू तो
तुम मेरे साथ इतना भी नहीं रही कि
तुम्हे देख समझ पाता

तुम्हारे व्यवहार , गुण या किसी और
विशेषता के बारे में भी कुछ ऐसा ही
कहा जा सकता है -

इन सब को छोड़ भी दूँ तो
तुम्हारी घोर उपेक्षा और
घनघोर चुप्पी के बावजूद
मै तुम्हे क्यूँ चाहता हूँ
ये एक यक्ष प्रश्न है ,

मुकेश इलाहाबादी -------------