Pages

Friday, 16 June 2017

तेरे उदास चेहरे पे रौनक छा जाएगी

तेरे उदास चेहरे पे रौनक छा जाएगी
मुझसे मिलोगी तो खुशी आ जाएगी

ईश्क़ की किताब रेत पे मत लिखना
लहर आएंगी,झटके से मिटा जाएगी

देखो  तो फूलों ने सेज़ बिछा रक्खी है
चाँदनी आएगी चादर  बिछा जाएगी

मेरे पास मुहब्बत की जादुई सुराही है
तुम्हारी बरसों की प्यास बुझा जाएगी

नींद आयी तो  मेरी बाहों में सो जाना
नहीं आई तो ख्वाब लोरी सूना जाएगी

मुकेश इलाहाबादी ---------------------