Pages

Saturday, 28 June 2014

कभी अदाओं से करते हैं

कभी अदाओं से करते हैं
कभी बेवफाई से करते हैं
ये ठहरे सितमगर ज़नाब,
हर हाल में सितम करते हैं
मुकेश इलाहाबादी ------------