Pages

Monday, 7 July 2014

यूँ खनखना के न हंसा कीजिये



यूँ खनखना के न हंसा कीजिये
दिल के तार झनझना जाते हैं
मुकेश इलाहाबादी --------------