Pages

Tuesday, 30 June 2015

तेरी मासूमियत हमें कुछ कहने नहीं देती

तेरी मासूमियत हमें कुछ कहने नहीं देती
वरना, सोच के तो आये थे बातें बहुत हम
मुकेश इलाहाबादी -------------------------