Pages

Wednesday, 1 June 2016

ऎ फ़लक़ तू ही बता कि,अब मै क्या करूँ ?

ऎ फ़लक़ तू ही बता कि,अब मै क्या करूँ ?
अपनी हद कम कर लूँ या तुझसे बातें करूँ ?
मुकेश इलाहाबादी -----------