Pages

Tuesday, 21 June 2016

यूँ सज संवर के अईना न देखा करो!

यूँ सज संवर के अईना न देखा करो!  
अाईने के भी दिल कांच के होते हैं !
मुकेश इलाहाबादी -------------------