Pages

Thursday, 18 August 2016

रात, नींद तो नहीं आई,

रात,
नींद तो नहीं आई,
आप के ख्वाब ज़रूर आये
रात से अब,
कोई  शिकायत नहीं
मुकेश इलाहाबादी -----------