Pages

Sunday, 6 November 2016

आप के गालों पे मासूम मुस्कराहट

आप के गालों पे मासूम मुस्कराहट
सुबह के आँचल पे फूलों के सजावट
दिले तनहा में हल्की सी भी हलचल
मुकेश,जैसे आपके कदमो की आहट 
मुकेश इलाहाबादी -------------------