Pages

Tuesday, 6 December 2016

जैसे, एक कंघी नए शेड की लिपिस्टिक

जैसे,
एक कंघी
नए शेड की लिपिस्टिक
आई ब्रो लाइनर
हेयर बैंड
कंगन और चूड़ियों के
एक दो सेट
कुछ छुट्टे पैसे
कुछ छोटे
कुछ बड़े नोट
और दो चार
पुराने कैश मेमो व
ज़रूरी कागज़ात
बस ऐसे ही
सहेज लो तुम मेरी यादें
मेरी बातें
मेरे अहसास
अपने वैनिटी बैग में
जिसे कोई छू भी न पाए
बगैर तुम्हारी इज़ाज़त के

मेरी प्यारी सुमी,
बस इत्ती सी इल्तज़ा है,

मुकेश इलाहाबादी -----