Pages

Thursday, 18 April 2013

बेवज़ह माँगता रहा मुहब्बत की भीख,



बेवज़ह  माँगता  रहा मुहब्बत की भीख,
लोग आते रहे और मुस्कुरा के जाते रहे
मुकेश इलाहाबादी ------------------------