Pages

Tuesday, 26 August 2014

किसी और से हमने गुफ्तगू नहीं की

किसी और से हमने गुफ्तगू नहीं की
तुझसे उस दिन के मुलाक़ात के बाद
इक अरसा हुआ हमने शहर नही देखा
घर से नहीं निकला उस शाम के बाद

मुकेश इलाहाबादी --------------------
--