Pages

Thursday, 28 July 2016

महफ़िलों में जब भी आप सज-संवर के आते हैं

महफ़िलों में जब भी आप सज-संवर के आते हैं
आप को देखने फ़रिश्ते भी आसमान से आते हैं

मुकेश इलाहाबादी ----------------------------------