Pages

Friday, 14 July 2017

प्यारी डिंपल वाली भोली लड़की

जी
चाहता है
तुम्हारे गालों के डिम्पल पे
आहिस्ता से रख दूँ
अपनी तर्जनी उंगली
और महसूस करूँ
गुलाब से भी गुलाबी
रेशम से भी मुलायम
इस छोटे से
क्यूट  से गड्ढे को
जिसके आगे सारी क़ायनात भी फीकी हैं

ओ !
प्यारे गालों
और उसपे खूबसूरत डिम्पल वाली
भोली लड़की
कभी कभी तो मेरा जी चाहता है
तुम्हारे गालों के इस डिम्पल के
इस छोटे से गड्ढे में डूब जाऊँ
जैसे नाव डूब जाती है
नदी की भंवर में

ओ मेरी प्यारी डिंपल वाली भोली लड़की
सुन रही हो न ???

मुकेश इलाहाबादी ------------------------------